Home / News In Hindi / क्यों इस किताब में बाल गंगाधर को आतंक का जनक बताया?

क्यों इस किताब में बाल गंगाधर को आतंक का जनक बताया?

राजस्थान में आठवीं कक्षा की इतिहास की अंग्रेज़ी भाषा की किताब में जोकि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त है, में बाल गंगाधर तिलक को ”आतंकवाद का जनक” बताया गया है। किताब के 22वें चैप्टर में लिखा गया है कि उन्होंने राष्ट्रीय आंदोलन का रास्ता दिखाया था, इसलिए उन्हें ‘आतंकवाद का जनक’ कहा जाता है।

कांग्रेस के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर विरोध किया। उन्होंने टि्वटर पर अपने पोस्ट में किताब की लाइनों को अंडरलाइन करते हुए राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

किताब के प्रकाशक मथुरा से है और स्टूडेंट एडवाइजर पब्लिकेशन प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारी राजपाल सिंह ने कहा कि यह केवल अनुवाद ठीक न होने से हुआ है। उन्होंने कहा है कि किताब में सुधार किया जाएगा। हैरत की बात है कि 10 सालों से बच्चों को यही पढ़ाया जा रहा है। यानि की तब से जब कांग्रेस सत्ता में थी।

बाल गंगाधर तिलक पहले ऐसे नेता थे जो भारतीय स्वत्रंता संग्राम में लोकप्रिय हुए। सबसे पहले तिलक ने महाराष्ट्र की मराठी भाषा में मराठा दर्पण व केसरी नाम से दो समाचार पत्रों की शुरूआत की। और केसरी में छपने वाले कुछ लेखों की वजह से उन्हें कई बार जेल भी जाना पड़ा। किताबे देश का इतिहास बताती है इस तरह किताबों में गलत इतिहास का होना ठीक नहीं राजस्थान की मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पर जल्द से जल्द कार्यवाही की जाएगी।

About theyellowboom

Check Also

रेगिस्तान की कड़ी धूप में साइकिल से घूम रहे अभिनेता सलमान खान

बॉलीवुड के दबंग सलमान खान रेस 3 की शूटिंग में पूरी तरह व्यस्थ है हाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *